pcl के मैच ने महानगरों में कॉर्पोरेट सैक्टर में आपसी मेल-मिलाप बढ़ाने का किया काम।

गोमती तोमर,

दिल्ली। महानगरों में कॉर्पोरेट सैक्टर भी आपसी मेल-मिलाप और मनोरंजन के लिए आईपीएल की तर्ज़ पर क्रिकेट लीग का आयोजन कर रहे हैं। कहने की जरूरत नहीं की ऐसी क्रिकेट लीग कारोबारियों को ही नहीं उनसे जुड़े कर्मचारियों और वैंडर्स को भी एक दूसरे के करीब लाने में सहायक है। इसका फायदा इन्हें काम में तो मिलता ही है, साथ ही ऐसे आयोजनों से इन लोगों को अपने सैक्टर की समस्याओं के लिए सरकार और सरकारी एजेंसियों के साथ संवाद और संघर्ष करने में भी मदद मिलती है।pcl के मैच ने महानगरों में कॉर्पोरेट सैक्टर में आपसी मेल-मिलाप बढ़ाने का किया काम।

ऐसा ही विचार दिल्ली से चल रहे देश के नामी पब्लिशर्स रचना सागर के निदेशक ‘नीरज गुप्ता’ ने अपने पब्लिशर्स के एक व्हाट्सअप ग्रुप में पोस्ट किया तो उसे तुरंत हाथों – हाथ लिया गया। नतीजा दिल्ली और नॉएडा में एक शानदार क्रिकेट लीग का आयोजन हुआ। 21 मई से 31 मई तक चली पब्लिशर्स की यह लीग पब्लिशर्स के लिए किसी आईपीएल से कम नहीं थी। इस लीग को पुरे प्रोफेशनल तरीके से ऑर्गनाइज किया गया। दिल्ली के रोशनारा क्लब और नॉएडा के गौर सिटी स्टेडियम में खेली गई इस क्रिकेट श्रृंखला में 17 पब्लिशर्स की कुल 10 टीमों ने भाग लिया। दिल्ली के रोशनारा क्लब में 21 मई को टूर्नामेंट के आगाज में भारतीय टीम के मशहूर क्रिकेटर चेतन शर्मा मुख्य अतिथि रहे।

मुख्यातिथि चेतन शर्मा ने कहा की यह एक अच्छी शुरुआत है। इस तरह के आयोजन आपको शारीरिक और मानसिक रूप से तो सशक्त बनाते ही है, साथ ही कम्युनिटी को एक दूसरे के नजदीक भी लाते हैं। लीग के संयोजक नीरज गुप्ता भी मानते है की बेशक इस लीग से शुरूआती दौर में 17 पब्लिशर्स की 10 टीमें भाग ले रही है लेकिन इसका रोमांच और रुचि तमाम पब्लिशर्स जगत में दिखाई दी। भले ही पब्लिशर्स का यह पहला टूर्नामेंट रहा हो लेकिन जिस प्रोफेशनल तरीके से इसका आयोजन हुआ वह बेहद आकर्षक और मनोरंजक रहा। मैच का सीधा प्रसारण दिल्ली के नंबर वन वेब चैनल ” दिल्ली दर्पण टीवी ” पर किया जा रहा था, लिहाज़ा देशभर के पब्लिशर्स पूरे रोमांच के साथ इसे देख भी रहे थे।

ऐसा नहीं है की विचार आया तो क्रिकेट टूर्नामेंट शुरू…. पब्लिशर्स ने बाकायदा आयोजन समिति बनाई। जैसे -जैसे पीसीएल की सोच का दायरा बढ़ता गया, पीसीएल के स्वरूप का आंगन भी बड़ा होता गया। उसी लेवल पर पीसीएल की तैयारियां भी शुरू हुई। पूरे इवेंट को प्रोफेशनल लुक देने के साथ – साथ प्लेयर्स की ट्रेनिंग के लिए भी प्रोफेशनल कोच की मदद ली गयी। सभी टीमों ने एक दूसरे के साथ प्रेक्टिस मैच भी खेले। अंत तक आते-आते यह आयोजन पब्लिशर्स के लिए किसी बड़े और खुशनुमा इवेंट से कम नहीं था। पुनीत गुप्ता ” का कहना था की उन्हें टीम तैयार करने में ही 10 से ज्यादा दिन लग गए। सबसे ज्यादा दिक्कत टीमों का नाम रखने में हुयी।

दिल्ली के रोशनारा क्लब में हुए पीसीएल लीग में रचना सागर, लक्ष्मी वारियर्स, एमपी रॉयल्स और फुल मार्कस ब्लास्टर्स की टीम सेमिफाइनल तक पहुंची और इन चार टीमों में से जीत कर आई एमपी रॉयल्स और लक्ष्मी वॉरियर्स के बीच लीग का फाइनल मुकाबला खेला गया। इस लीग के फाइनल मुकाबले में एमपी रॉयल्स यानी मिलेनियम प्रज्ञा रॉयल्स ने लक्ष्मी वॉरियर्स को 44 रनों से मात देकर पीसीएल के पहले सीजन का खिताब अपने नाम कर लिया। इस मैच में मैन ऑफ द मैच रहे 44 गेंदों पर 75 रन बनाने वाले मिलेनियम प्रज्ञा के खिलाड़ी संजय आर्या। लीग के फाइनल में जीतने वाली एमपी रॉयल्स को पीसीएल की ट्रॉफी के साथ 51,000 रुपए का चैक इनाम के तौर पर दिया गया वहीं रनरअप रही लक्ष्मी वॉरियरिस को 31,000 हजार रुपए का चैक दिया गया। पीसीएल लीग का आगाज जितना आकर्षक था समापन समारोह भी उसी प्रकार बेहद शानदार रहा। समापन समारोह में सभी स्पॉनसर्स को मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। समापन समारोह के मौके पर आयोजक नीरज गुप्ता ने न सभी लोगों को धन्यवाद किया जिनके कारण उनकी ये लीग सफल हो पाई। वहीं समापन समारोह में मुख्य अतिथी के रूप में पहुंचे पूर्व क्रिकेटर चेतन शर्मा ने पीसीएल के सभी आयोजकों की तारीफ की और कहा कि अगर पीसीएल का पहला सीजन इतना दमदार था तो उन्हें दूसरे सीजन का इंतजार रहेगा क्योंकि दूसरा सीजन वाकई चौंकाने वाला होगा। जिस तरह का उत्साह पीसीएल आयोजकों को इस लीग के दौरान मिला, उसे देखते हुए लगता है की पीसीएल के अगले सीजन में देशभर से बड़ी तादाद में पब्लिशर्स की टीमें भाग लेंगी। ऐसे में पीएसीएल के सामने चुनौती होगी कि यदि टीमों की तादाद ज्यादा हुई तो वे उसे कैसे मैनेज करेगा।

Comments are closed.