Monday, May 27, 2024
Homeअन्यप्रॉपर्टी डीलर के यहां 600 करोड़ लूटने पहुंचे 2 बिजनेसमैन

प्रॉपर्टी डीलर के यहां 600 करोड़ लूटने पहुंचे 2 बिजनेसमैन

जयपुर के 2 प्रॉपर्टी डीलर अपने ही जानने वाले प्रॉपर्टी डीलर के यहां 600 करोड़ रुपए लूटने पहुंच गए। इसके लिए उन्होंने लुटेरों की गैंग से संपर्क साधा और पहुंच गए लूट की वारदात को अंजाम देने। घर वालों को पहले बंधक बनाया, फिर 600 करोड़ रुपए ढूंढने लगे। कमरे की टाइल्स तक तोड़ डाली। फिर भी सफलता नहीं मिली। इतना सब उन्होंने एक महिला तांत्रिक के कहने पर किया। तांत्रिक ने कहा था कि घर में 600 करोड़ रुपए हैं। बाद में लुटेरे घर में पड़े कीमती सामान (गहने) व कैश लूट कर फरार हो गए। मामला करणी विहार इलाके का है।

 

महिला तांत्रिक सहित 15 गिरफ्तार

डीसीपी वेस्ट वंदिता राणा ने बताया- पुलिस ने महिला तांत्रिक समेत सभी 15 आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार किया है। करणी विहार थाने के धाबास में 12 मई की देर रात प्रॉपर्टी कारोबारी यादराम मौर्य के घर में हथियारों से लैस होकर बदमाश घुसे थे। पुलिस ने इस वारदात का खुलासा तीन दिन में कर दिया है।

जमीन को लेकर विवाद था डीसीपी वंदिता राणा की मानें तो जांच में सामने आया कि यादराम मौर्य का अपने परिचित रामदयाल और रामेश्वर राठी से जमीन को लेकर विवाद था। रामदयाल और रामेश्वर राठी ने बदला लेने की नीयत से तंत्र विद्या करने वाली अपनी धर्म बहन शीबा बानो से चर्चा की। शीबा ने यादराम के घर में करीब 600 करोड़ रुपए होने की जानकारी दी। रामदयाल और रामेश्वर राठी ने कुछ लोगों को पैसा का लालच दिया और यादराम के घर में डकैती डालने की साजिश रची।

तांत्रिक महिला शीबा बानो और रामदयाल पुलिस की गिरफ्त में

डीसीपी राणा ने बताया- 12 मई की रात करीब 2 बजे 10 लोग यादराम मौर्य के घर में जबरन घुसे। इस दौरान यादराम अपनी पत्नी के साथ सो रहा था। यादराम का बेटा और बेटी भी घर में थे। बदमाशों ने सबको बंधक बना लिया। इसके बाद बदमाशों ने घर का कोना-कोना छान मारा। किचन और बेडरूम की टाइल्स तक तोड़ दी। इन्हें शक था की घर में 600 करोड़ रुपए हैं। ऐसे में पैसा जमीन के नीचे भी दबाया हुआ हो सकता है। बदमाशों ने मकान में पैसा नहीं मिलने पर यादराम मौर्य से मारपीट भी की। जाते-जाते लुटेरे घर में रखे कीमती सामान, ज्वेलरी और कुछ नगदी लेकर फरार हो गए।

पिकअप लेकर पहुंचे थे बदमाश

वारदात करने आए बदमाशों को पूरा विश्वास था कि मकान में 600 करोड़ रुपए मिलेंगे। इसके बाद सभी बदमाशों ने पैसा लूटने के साथ वापस कैसे लाना है, इसकी भी प्लानिंग कर रखी थी। यही कारण था कि बदमाश पिकअप लेकर वारदात करने पहुंचे थे।

बदमाश पिकअप लेकर डकैती करने प्रॉपर्टी डीलर के घर पहुंचे थे। बुधवार को इनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसमें इसमें 9 जयपुर के, दो टोंक, दो अजमेर, एक सीकर और एक बागपत (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है।
बदमाश पिकअप लेकर डकैती करने प्रॉपर्टी डीलर के घर पहुंचे थे। बुधवार को इनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसमें इसमें 9 जयपुर के, दो टोंक, दो अजमेर, एक सीकर और एक बागपत (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है।
सीसीटीवी के आधार पर पुलिस ने की जांच

घटना के बाद पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों की तलाश शुरू की। पीड़ित की ओर से भी पुलिस को जानकारी दे दी गई थी कि उसका किस पर शक है। इस पर पुलिस ने जांच का दायरा बढ़ाते हुए वारदात में शामिल 15 आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया है।

पहले तीनों अच्छे दोस्त थे

रामदयाल और रामेश्वर राठी भी प्रॉपर्टी का ही काम किया करते हैं। ये तीनों पहले अच्छे दोस्त हुआ करते थे। एक प्रॉपर्टी के लेनदेन में हुए विवाद के बाद दोनों की पीड़ित के साथ बिगड़ गई।

ये हुए गिरफ्तार

सहजाद (55) पुत्र रहिमुद्दीन, नदीम सैफी (26) पुत्र सलाउद्दीन, रवि पाण्डे (28) पुत्र गौरी शंकर पाण्डे, जितेन्द्र कुमार जांगिड (28) पुत्र चतुर्भुज जांगिड, रमेश भोजवानी (47) पुत्र लीलाराम भोजवानी, पूर्णमल सैनी (35) पुत्र अर्जुन लाल सैनी, रोहिताश जाट (30) पुत्र सूरजमल जाट, प्रकाश चन्द सैनी (35) पुत्र अर्जुनलाल सैनी, बाबूलाल सैनी (44) पुत्र मालीराम सैनी, सुनील कुमार सैन (28) पुत्र लक्ष्मी नारायण सैन, शीबा बानो (50) पत्नी मोहम्मद आरिफ​​​​​​​, दीनदयाल मीणा (40)​​​​​​​ पुत्र बंजरग लाल मीणा, रामेश्वर प्रसाद राठी (30)​​​​​​​ पुत्र गणेशलाल, किशोर सिंह (57)​​​​​​​ पुत्र पवन सिंह, बादल कौशिक (24)​​​​​​​ पुत्र श्रीपाल को गिरफ्तार किया गया। इसमें 9 जयपुर के, दो टोंक, दो अजमेर, एक सीकर और एक बागपत (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments