जनता परिवार की एकजुटता से चिंतित नहीं: वेंकैया

हैदराबाद वरिष्ठ भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने जनता दल को एकजुट करने के कुछ दलों के प्रयासों को ‘‘आजमाया जा चुका और नाकाम प्रयोग’’ कहते हुए आज खारिज कर दिया और कहा कि उनकी पार्टी को इसमें ‘‘कोई समस्या नहीं’’ दिखती है। कुछ दलों द्वारा पुराने जनता दल को एकजुट करने के कथित प्रयासों के बारे में पूछे जाने पर नायडू ने कहा, ‘‘ ये सब आजमाए जा चुके और नाकाम प्रयोग हैं।’’ उन्होंने कहा, ”कितनी बार जनता परिवार एक साथ आया, मिलकर लड़ा और उसके बाद टूट गया और विभिन्न समितियां तथा विभिन्न दल बन गए। मुझे कोई समस्या नहीं है। अगर उनमें से सभी ‘‘एक बार फिर’’ साथ आते हैं, हमें कोई परेशानी नहीं है।’’ नायडू की यह टिप्पणी उन रिपोर्टों के आलोक में आयी है कि समाजवादी पार्टी, जनता दल यूनाइटेड, इंडियन नेशनल लोकदल और समाजवादी जनता पार्टी जनता परिवार के घटकों के बीच एकजुटता के लिए बातचीत कर रहे हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की टिप्पणी कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देते हैं और अन्य लंबित मांगों को पूरा कर देते हैं तो वह प्रधानमंत्री का समर्थक बनने को तैयार हैं, के बारे में नायडू ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम है कि विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने के संबंध में राष्ट्रीय विकास परिषद द्वारा निर्धारित मानदंडों को बिहार पूरा करता है नहीं। नायडू ने कहा, ”मेरा मानना है कि किसी भी सरकार द्वारा किए गए किसी भी अच्छे कार्य का समर्थन किया जाना चाहिए। अगर बिहार के मुख्यमंत्री केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का समर्थन करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है। भारत सरकार सभी राज्यों का ख्याल रखने के लिए अपनी ओर से पूरा प्रयास कर रही है।‘‘

Comments are closed.