सोनिया और राहुल वंशवाद की राजनीति चला रहे: भाजपा

नई दिल्ली। सुषमा स्वराज को निशाना बनाने पर सोनिया और राहुल को आड़े हाथों लेते हुए भाजपा ने कांग्रेस पार्टी पर वंशवाद की राजनीति करने की बात कही। भाजपा ने आज विदेश मंत्री का बचाव करने के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को आगे किया जब ललित मोदी प्रकरण पर सुषमा स्वराज के खिलाफ सोनिया एवं राहुल की तीखी टिप्पणी से दोनों दलों में तनातनी बढ़ गई है। कांग्रेस पार्टी के नेताओं की ओर से स्पीकर सुमित्रा महाजन पर पक्षपात करने के आरोप लगे हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा सुषमा पर नाटक करने में माहिर होने का आरोप लगाने के बारे में पूछे जाने पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘संसद में कही गई बात को नाटक कहना, अपने आप में इसकी गरिमा के खिलाफ है।’’ स्मृति ईरानी ने कहा कि संसद एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां देश की सामाजिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक विषयों एवं उससे जुड़े मुद्दों पर चर्चा की जाती है और समाधान निकाला जाता है। इसमें कही गई बातों को ‘थियेट्रिक्स’ कहना, इसकी गरिमा को कम करना है। भाजपा नेता ने कहा कि देश की जनता की भलाई, देश के विकास के लिए एक साल से कुछ ज्यादा समय में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने कई ऐतिहासिक कदम उठाये, शांति बहाली के लिए नगा शांति समझौता किया। स्मृति ने कहा, ”देश के विकास का मार्ग बाधित करने के लिए देश की जनता कांग्रेस पार्टी को कभी माफ नहीं करेगी।’’

गांधी परिवार पर चुटकी लेते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि दोनों महिलाएं (सुमित्रा और सुषमा) सामान्य परिवार से आई हैं। स्मृति ने कहा, ‘‘देश के लोग जानते हैं कि सामान्य परिवार से आने वाली महिला को समाज और उसकी अर्थव्यवस्था में स्थान बनाने के लिए कितना कठिन परिश्रम करना होता है। सामान्य तौर ऐसी महिलाओं के बच्चे भी कठिन परिश्रम करते हैं।’’ उन्होंने कहा, ”गांधी परिवार एक अपवाद हो सकता है जिसे पैसा कमाने के लिए धूप में पसीना बहाने की जरूरत नहीं पड़ी। वह इन आरोपों को सिरे से खारिज करती हैं। और कांग्रेस नेताओं का बयान संसद की गरिमा के खिलाफ है।’’ स्मृति ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के युवा इकाई के सदस्यों ने स्पीकर द्वारा कांग्रेस के 25 सदस्यों को निलंबित करने के निर्णय के खिलाफ शर्ट उतार कर प्रदर्शन किया। केंद्रीय मंत्री ने सवाल किया कि क्या राहुल गांधी चाहते हैं कि कांग्रेस इन्हीं मूल्यों को सीखे। उन्होंने कहा, ”लोकसभा में सुषमाजी ने चुनौती दी थी कि एक भी कागजात ला कर दिखायें। कांग्रेस पार्टी चुनौती स्वीकार करे। लेकिन इनके पास कुछ भी नहीं है। कैमरे पर डेढ़ मिनट का बाइट देना आसान है लेकिन सदन में डेढ़ घंटे अपनी बात रखना कठिन है।’’स्मृति ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ”देश की संसद में जब कोई वक्तव्य देता है, तब देश की जनता को विश्वास में लेकर और उसके भरोसे के साथ देता है। कांग्रेस नेता का बयान देश की जनता के जनादेश का अपमान है।’’

 

Comments are closed.