सिडनी के लिंट कैफे में मारे गये लोगों की हुई पहचान

सिडनी।   सिडनी के एक कैफेटेरिया में 17 घंटे तक चले बंधक संकट में मारे गये दो मृतकों की पहचान लिंडट चॉकलेट कैफे के प्रबंधक और एक वकील के रूप में की गई है। पुलिस कार्रवाई में मारी गयी 38 वर्षीय वकील कैटरीना डावसन तीन बच्चों की मां थी। वह सेलबोर्न चैम्बर्स में बैरिस्टर थी और उसने मैलेसन फर्म के एक पार्टनर पाउल स्मिथ से शादी की थी जहां। डावसन ने सिडनी विश्वविद्यालय में कानून की पढ़ाई की थी, जहां पर उसने महिला कॉलेज में शिक्षा प्राप्त की थी। उसने मैलेसन में क्लर्क के रूप में काम किया जहां पर उसकी मुलाकात उसके पति से हुयी थी।

अभियान में कल लिंट चॉकलेट कैफे के 34 वर्षीय प्रबंधक टोरी जोहान्सन भी मारा गया। वह अक्टूबर 2012 से कैफे में काम कर रहा था और सिडनी के आसपास के अन्य रेस्तरां और हास्पिटैलिटी कंपनियों में से भी जुड़ा हुआ था। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबट ने आज कहा दुर्भाग्य से, हमारे समुदाय के लोग राजनीति से प्रेरित हिंसा में शामिल होने को तैयार हैं। मार्टिन प्लेस की घटनाएं भी यह दिखाती है कि हम लोग इन लोगों से पेशेवर तरीके और कानून की पूरी ताकत से निपटने के लिए तैयार हैं।

एबट ने इस अभियान में शामिल न्यू साउथ वेल्स (एनएसडब्ल्यू) पुलिस और अन्य संगठनों के पेशेवर तरीके और बहादुरी के लिए धन्यवाद देते हुये कहा बहुत मुश्किल और परीक्षा वाले दिन में कल, प्रीमियर बेयर्ड ने बड़ी दढ़ता दिखायी और सिडनी वासियों को उनकी बहादुरी पर गर्व है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से मुकाबले में हमारे कानून प्रवर्तन और सुरक्षा एजेंसियों द्वारा अख्तियार किये गये रास्ते से ऑस्ट्रेलियाई निवासी को आश्वस्त होना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा इस भयावह घटना में फंसे सभी लोगों और उनके प्रियजनों के लिए मैं चिंतित था। सभी आस्ट्रेलिया वासियों की ओर से मारे गये दो बंधक के परिजनों के प्रति मैं अपनी सहानुभूति व्यक्त करता हूं। उन्होंने चेतावनी दी कि देश राजनीति से प्रभावित हिंसा की चपेट में था।

सिडनी कैफे के मालिक, स्विटजरलैंड चॉकलेट बनाने वाले लिंट ने कैफे में बंदूकधारियों और दो बंधकों के मारे पर दुख व्यक्त किया और कहा गतिरोध के परिणाम के कारण यह तबाही हुयी। लिंडट ने एक बयान में कहा हम लोग उनके मारे जाने और दूसरे लोगों के घायल होने के कारण तबाह हुये और इस तरह का अनुभव सच में दुखदायी है।

इस बीच, तेहरान ने ईरान में जन्मे एक बंदूकधारी द्वारा ऑस्ट्रेलिया में बंधक बनाए जाने की घटना को गैर-इस्लामी करार देते हुए उसकी निंदा की। समाचार एजेंसी ईरना के मुताबिक, ईरानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मारजेह अफखाम ने कल कहा दयापूर्ण इस्लाम के नाम पर इस तरह के अमानवीय कृत्यों, भय और डर को बढ़ावा देने के किसी तरह भी सही नहीं ठहराया जा सकता है।

Comments are closed.