सडक धंसने को लेकर सरकार गंभीर

पानीपत में दिल्ली-अंबाला सडक मार्ग पर गांधी मंडी के निकट सडक धंसने के मामले को प्रदेश सरकार गंभीरता से ले रही है। रविवार दोपहर बाद पानीपत में पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज उस स्थान का दौरा किया जहां पर सड़क धंसी थी और जिस स्थान पर जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा गढ्ढे को भरते हुए सडक का पुर्ननिर्माण करवाया जा रहा है। इस समस्या के स्थाई समाधान के लिए लगभग 11 सौ मीटर नई पाईप लाईन बिछाने की योजना है जिसके प्रथम चरण में लगभग सवा दो सौ मीटर हिस्से में बिजली के पोल हटने के तुरंत बाद ही नई पाईप लाईन बिछाने का काम शुरु करवा दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने मौके पर ही जिला अधिकारियों को निर्देश दिए कि सडक का निर्माण पूरी मुस्तैदी से इस प्रकार से करवाया जाए कि फिर से लोगों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पडे। उन्होंने सडक का निर्माण जल्द से जल्द करवाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने मौके पर मौजूद जनस्वास्थ्य विभाग के इंजीनियर इन चीफ एके खेत्रपाल और पानीपत जिला अधिकारियों को नई बनने वाली सडक के निर्माण में गुणवत्ता का पूर्ण ध्यान रखने के निर्देश देते हुए कहा कि दिल्ली-अंबाला सडक मार्ग का यह भाग अत्यंत महत्वपूर्ण है जिसके कुछ देर तक ही बंद होने के चलते लोगों विशेषकर उन वाहन चालकों •ो भारी परेशानी का सामना करना पडता है जिनका इस मार्ग से चंडीगढ, पंजाब और हिमाचल की तरफ आवागमन होता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना करना पडता है तो यह सीधे तौर पर प्रदेश सरकार और अधिकारियों के लिए चुनौती है। उन्होंने कहा कि पानीपत में सडक धंसने का मामला बेहद गंभीर है और सरकार के संज्ञान में है कि इसके चलते लोगों को समस्या आडे आ रही है। उन्होंने लोगों को विश्वास दिलाया है कि जल्द ही इस समस्या का स्थाई समाधान भी कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस स्थान पर सडक में गढ्ढा हुआ था, उसे भरने का काम जोरों पर है और कम्पैक्शन का काम पूरा होने के बाद जल्द ही उसके ऊपर सडक का निर्माण भी करवा दिया जाएगा।  लेकिन वे इस समस्या का अस्थाई निदान नहीं चाहते हैं। उनके संज्ञान में लाया गया है कि पानीपत में जीटी रोड के नीचे बिछाई गई सीवरेज प्रणाली करीब 25 साल पुरानी है जो बढी हुई जनसंख्या को देखते हुए अपर्याप्त है। उन्होंने कहा कि लगभग अढाई करोड रुपए की लागत से नई सीवरेज प्रणाली बिछाने की मंजूरी दी जा चुकी है और जल्द ही इस पर काम भी शुरु करवा दिया जाएगा। टूटे सीवरेज से पानी का रिसाव न हो, इसके लिए गंदे पानी को जेनेरेटर मोटर के द्वारा डाईवर्ट करते हूए दूसरे सीवरेज में डाला जा रहा है।
  मुख्यमंत्री ने शहरवासियों से भी अपील की कि वे इस कार्य में वे सरकार और अधिकारियों को सहयोग प्रदान करते हुए कुछ दिन तक धैर्य रखें जिससे काम को सुचारु और तेज गति से करवाते हुए नई सीवरेज पाईप लाईन बिछ सके। इस मौके पर विधायक रोहिता रेवडी, विधायक कृष्ण पंवार, पानीपत के उपायुक्त समीरपाल सरो, एसपी राहुल शर्मा, पानीपत जनस्वास्थ्य विभाग एक्सीएन राजेंद्र सिंह के अलावा एलएंडटी कंपनी के अनेक अधिकारी भी मौजूद रहे।

Comments are closed.