व्यापार घाटा में आई बड़ी कमी, देश का निर्यात सात महीने के निचले स्तर पर

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अक्टूबर में देश का व्यापार घाटे में बड़ी कमी आई है। अक्टूबर में व्यापार घाटा 13.35 अरब डॉलर रहा। जबकि सितंबर में व्यापार घाटा 14.25 अरब डॉलर था। इसके अलावा अक्टूबर में निर्यात के आंकड़े पिछले सात महीने के सबसे निचले स्तर पर रहे। जबकि, आंकड़ों के मुताबिक सालाना आधार पर ट्रेड डिफिसिट में 26.1 फीसदी यानी 13.36 अरब डॉलर की उछाल आई है।
निर्यात में गिरावट
2013 अक्टूबर में निर्यात का आंकड़ा 28.90 अरब यूएस डॉलर था जो इस साल समान अवधि में गिरकर 26.09 अरब यूएस डॉलर पर पहुंच गया। सालाना आधार पर 5.04 फीसदी गिरावट निर्यात क्षेत्र में दर्ज की गई है।
ऑयल इंपोर्ट में गिरावट के कारण घटा ट्रेड डेफिसिट
  • देश के इंपोर्ट बिल में सोना और तेल की भागीदारी सबसे ज्यादा है। आंकड़ों के मुताबिक व्यापार घाटे में मौजूदा कमी ऑयल इंपोर्ट में गिरावट के कारण आई है। माह के आधार पर तेल का आयात 14.50 अरब यूएस डॉलर के मुकाबले 12.36 अरब यूएस डॉलर रहा है।
  • वहीं, ट्रेड आंकड़ों के मुताबिक इंपोर्ट सितंबर के मुकाबले अक्टूबर में बड़ी कमी आई है। सितंबर में आयात आंकड़ा 43.15 यूएस डॉलर था। जबकि अक्टूबर में आयात 39.45 यूएस डॉलर रहा। जबकि सालाना आधार पर आयात के आंकड़ो में 3.16 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है।
  • जबकि नॉन ऑयल इंपोर्ट मासिक आधार पर 28.65 अरब यूएस डॉलर के मुकाबले 27.08 अरब यूएस डॉलर रहा।
गोल्ड इंपोर्ट में उछाल
  • ताजा ट्रेड आंकड़ों के मुताबिक गोल्ड इंपोर्ट में उछाल आई है। पिछले माह 3.75 अरब यूएस डॉलर के मुकाबले इस माह 4.18 अरब यूएस डॉलर रही है।
  • सालाना आधार पर गोल्ड इंपोर्ट में जबरदस्त बढ़ोत्तरी हुई है। 1.09 अरब यूएस डॉलर के मुकाबले गोल्ड इंपोर्ट 4.17 अरब यूएस डॉलर रहा।
  • गोल्ड इंपोर्ट बढ़ने का कारण दिवाली और धनतेरस जैसे त्योहार हैं। खासकर इन त्योहारों में सोने-चांदी की खरीदारी होती है।

 

Comments are closed.