Sunday, May 19, 2024
Homeअन्यभाजपा के साथ गठबंधन असंभव: उमर अब्दुल्ला

भाजपा के साथ गठबंधन असंभव: उमर अब्दुल्ला

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने आज कहा कि भाजपा के साथ हाथ मिलाना उनकी पार्टी ‘नेशनल कांफ्रेंस’ के लिए ‘असंभव’ है। ऐसा कहकर मुख्यमंत्री ने उन खबरों को पूरी तरह खारिज कर दिया है, जिनमें कहा जा रहा था कि पार्टी (नेकां) की ओर से भाजपा के साथ गठबंधन करने के संकेत दिए जा रहे हैं। उमर ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आपको ऐसी खबरें (भाजपा के साथ गठबंधन की खबरें) मिलती कहां से हैं? आप ऐसी खबरें अपने घर पर बनाते हैं। मैं क्या कर सकता हूं? हमारी ओर से ऐसी कोई बात नहीं है। हमने ऐसा कोई संकेत नहीं दिया है।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसी खबरें कुछ पत्रकार बनाते हैं और उसे ‘वरिष्ठ सूत्रों’ के हवाले से मिली खबर बता देते हैं। उमर ने कहा, ‘‘कुछ पत्रकार घर बैठे खबर बनाते हैं..आप किसी के नाम नहीं देते और कहते हैं कि वरिष्ठ सूत्रों ने ऐसा कहा है। मैं जानता हूं कि वे वरिष्ठ सूत्र कौन हैं और आप उन्हें घर बैठे बनाते हैं।’’ अप्रत्यक्ष तौर पर केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति के विवादास्पद बयानों की ओर इशारा करते हुए उमर ने कहा, ‘‘नेशनल कांफ्रेंस का भाजपा के साथ हाथ मिलाने का कोई इरादा नहीं है। हम ऐसे दल के साथ हाथ नहीं मिला सकते, जिसके केंद्रीय मंत्री हमारे खिलाफ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करते हों। यह असंभव है।’’ मुख्यमंत्री अपने दादा दिवंगत मुख्यमंत्री शेख मोहम्मद अब्दुल्ला की जयंती के मौके पर उनके मकबरे में आयोजित प्रार्थना सभा से इतर बात कर रहे थे। उमर ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान उनकी रैलियों में लोगों का बड़ी संख्या में जुटना उनकी पार्टी के लिए अच्छा संकेत है। उमर ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि पिछले 15 से 20 दिनों में माहौल हमारे लिए बदला है। मैंने जनसभाओं में जो भागीदारी देखी है.. वह भागीदारी से कहीं ज्यादा है। क्योंकि संख्या उतनी महत्वपूर्ण नहीं है, जितना महत्वपूर्ण उत्साह है।..उत्साह का जो स्तर मैं अपने कार्यकर्ताओं में देखता हूं, अपने कैडर में देखता हूं, जनसभाओं में शिरकत करने वाले लोगों में देखता हूं..ईमानदारी से कहूं, तो पिछले दो या तीन चुनावों में मैंने ऐसा कभी नहीं देखा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरे लिए, यह बिल्कुल अलग अनुभव है। मैं ऐसे इलाकों में गया हूं और वहां जनसभाएं की हैं, जहां पारंपरिक तौर पर जनसभाओं में कोई नहीं आता था और मुझे लगता है कि यह (बड़ी संख्या में जुटना) एक अच्छा संकेत है।’’ नेशनल कांफ्रेंस के कार्यकारी अध्यक्ष उमर ने बडगाम, बारामूला और जम्मू के कई निर्वाचन क्षेत्रों में प्रचार अभियान के दौरान बड़ी सभाओं को संबोधित किया था।


RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments