Monday, May 27, 2024
Homeअन्यबाप-बेटे ने झारखंड को लूट कर तिजोरी भरीः मोदी

बाप-बेटे ने झारखंड को लूट कर तिजोरी भरीः मोदी

दुमका। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां आरोप लगाया कि झारखंड में ‘बाप-बेटे’ ने राज्य को लूट कर सिर्फ अपनी तिजोरी भरी है और राज्य की गरीब आदिवासी जनता के लिए उन्होंने कुछ नहीं किया है लिहाजा इन चुनावों में जनता उन्हें उनके किये की सजा देगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां झारखंड विधानसभा चुनावों के पांचवें और अंतिम चरण की संथाल परगना की 16 शेष सीटों के लिए भाजपा का चुनाव प्रचार करते हुए आरोप लगाया कि राज्य के आज के हालात के लिए कोई जिम्मेदार है तो वह कांग्रेस और बाप-बेटे (शिबू सोरेन और और उनके पुत्र मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन) हैं। इन लोगों को यहां के गरीबों और आदिवासियों की याद सिर्फ चुनावों के समय आती है।

मोदी ने पूछा, ‘‘झारखंड की अकूत संपदा पर किसका अधिकार है, क्या वह जनता की झोली में नहीं जाना चाहिए? लेकिन दुर्भाग्यवश यह संपदा जनता की झोली में नहीं गयी बल्कि बाप-बेटे ने राज्य को लूटकर अपनी तिजोरी भरी।’’ उन्होंने कहा कि राज्य की जनता की भावनाओं के साथ हमेशा से इन बाप-बेटे ने खिलवाड़ किया है। अत: अब समय आ गया है कि उन्हें उनके किये की सजा दी जाये। मोदी ने जनता का आह्वान किया कि वे इन नेताओं को सजा दें जिससे आगे उनमें सुधार हो और वह जनता और उसकी संपत्ति को लूटे नहीं। जनता को छलने का साहस दोबारा नहीं कर सकें। मोदी ने कहा कि झारखंड में मिलीजुली सरकारों ने राज्य को लूटा है क्योंकि ऐसी सरकारों में शामिल विभिन्न गुटों ने अपना-अपना स्वार्थ साधने में ही पूरी ऊर्जा लगा दी। उन्होंने कहा कि अब इस स्थिति को बदलने का समय आ गया है और जनता ने इसी बात को ध्यान में रखते हुए केन्द्र में उन्हें सत्ता की बागडोर सौंपी है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं दिल्ली में देश का प्रधानमंत्री बनकर नहीं बैठा हूं बल्कि वहां मैं आपका चौकीदार बनकर बैठा हूं। आप की तिजोरी की हिफाजत और देश का विकास मेरी जिम्मेदारी है।’’

उन्होंने कहा कि यदि जनता झारखंड का भला चाहती है तो राज्य में भी भाजपा की बहुमत की सरकार आवश्यक है जिससे वह यहां विकास की नयी योजनाओं को परवान चढ़ा सके। मोदी ने कहा, ‘‘अपना प्रिय होने पर यदि आप यहां के नेताओं को एक बार हार की सजा देंगे तो उनमें सुधार होगा। अन्यथा वह आगे भी राज्य को लूटते ही रहेंगे।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस की सरकारों ने आजादी के बाद के 65 वर्ष में उनके लिए कुछ नहीं किया। देश की जनता ने अब यह जिम्मेदारी भाजपा को देने की ठानी है।

मोदी ने कहा कि गुजरात, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्य प्रदेश में जनता ने बार बार भाजपा को शासन की जिम्मेदारी दी है जबकि इन राज्यों में आदिवासियों की बड़ी संख्या है। उन्होंने कहा कि 1998 से 2004 के वाजपेयी सरकार के दौर में पहली बार देश में केन्द्र सरकार ने आदिवासी कल्याण मंत्रालय की स्थापना की थी। मोदी ने दावा किया कि राज्य की जनता ने अब तक हुए 65 सीटों के चुनावों में ही भाजपा को बहुमत दे दिया है और बची 16 सीटों में से वह भाजपा को इतनी सीटें और दे देगी जिससे उसका बहुमत दो-तिहाई का हो जाये।


RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments