पाक में बस और तेल टैंकर में भिड़ंत, 59 मरे

कराची पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत में राजमार्ग पर यात्रियों से ठसाठस भरी एक बस और तेज गति से आ रहे एक तेल टैंकर में आमने सामने की भिडंत में आज महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 59 लोग मारे गए और दर्जनों घायल हो गए। इसे देश के हालिया सर्वाधिक भयंकर सड़क हादसों में से एक माना जा रहा है। कराची के आयुक्त शोएब सिद्दीकी ने बताया कि यह हादसा आज सुपर हाईवे पर हुआ। उस समय बस कराची से शिकारपुर की ओर जा रही थी और वह तेल टैंकर से टकरा गयी। सिद्दीकी ने बताया, ”यह दोनों वाहनों के चालकों की गलती से हुआ क्योंकि दोनों ही वाहन तेज गति से जा रहे थे और बस यात्रियों से भरी हुई थी और उसकी छत पर भी लोग सवार थे।’’ जिन्नाह पोस्ट ग्रेज्युएट मेडिकल सेंटर (जेपीएमसी) के आपात विभाग प्रभारी सिमी जमाली ने बताया कि महिलाओं समेत 59 शवों तथा चार घायलों को जिन्नाह अस्पताल लाया गया है। अस्पताल में आपात स्थिति घोषित कर दी गयी है। बस के भीतर 60 से 70 लोग सवार थे तथा बस में आग लगने के बाद पीछे बैठे लोग जान बचाने के लिए खिड़कियों से बाहर कूद गए ।59 यात्रियों में से कम से कम 40 यात्री जिंदा जल गए जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। मारे गए लोगों में आठ सदस्यों का एक पूरा परिवार भी शामिल है। हादसे में जिंदा बचे एक व्यक्ति ने जियो न्यूज चैनल को बताया कि यात्री बस ठसाठस भरी हुई थी और चालक भी तेज रफ्तार से बस चला रहा था। उन्होंने बताया कि जब तेल टैंकर का चालक वाहन से नियंत्रण खोकर गलत दिशा में आ गया तो उसे सामने देखकर बस का चालक नियंत्रण खो बैठा। टेलीविजन चैनलों की फुटेज में दिखाया गया है कि दोनों वाहनों में आग लगी हुई है और राहत एवं बचाव कर्मी तथा दमकल गाड़ियां आग बुझाने में लगी हैं। सिंध प्रांत में सड़कों की हालत बेहद खराब है और पुलिस द्वारा जांच में गफलत बरते जाने के कारण चालक रात में तेज गति से वाहन चलाते हैं। पिछले वर्ष इसी प्रकार के हादसे में करीब 57 लोग सुपर हाईवे पर ही खरपुर के समीप कोयले से लदे एक ट्रक से बस के टकरा जाने के कारण मारे गए थे। मार्च महीने में हाईवे पर ऐसे ही एक सड़क हादसे में 43 लोग मारे गए थे


Comments are closed.