गोहत्या रोकने के लिए कानून लाएंगे: खट्टर

चंडीगढ़।  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज कहा कि गोहत्या को रोकने के लिए सरकार जल्द ही एक कानून लाने वाली है। मुख्यमंत्री ने यमुनानगर में लोगों से मुलाकात के बाद कहा, ‘‘राज्य विधानसभा के अगले सत्र में इस संबंध में विधेयक लाने का प्रयास किया जाएगा।’’ जिले में यातायात जाम की समस्या के बारे में पूछे जाने पर खट्टर ने बताया कि यमुनानगर-जगधारी के लिए रिंग रोड का निर्माण किया जाएगा।

एक अन्य प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार अपने घोषणापत्र में किए सारे वादों को पूरा करेगी। पंजाब की तरह ही राज्य सरकार कर्मचारियों के लिए वेतनमान कब लाएगी, इस बारे में पूछे जाने पर खट्टर ने कहा कि राज्य में इससे पहले की कांग्रेस नीत सरकार ने ‘‘कई गड्ढे खोदे हैं जिन्हें भरा जाना जरूरी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सरकार की पहली प्राथमिकता राज्य की राजकोषीय स्थिति में सुधार लाना है।’’

इस बीच, बीती शाम यमुनानगर के जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में खट्टर ने संबंधित अधिकारियों को जिले से होकर गुजरने वाली विभिन्न नदियों के किनारे बांध का निर्माण कर जल के इस्तेमाल की संभावनाओं को बढ़ाने के लिए सर्वेक्षण करने का निर्देश दिया ताकि इस जल का सिंचाई में उपयोग किया जा सके।

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने यमुनानगर जिले के निवासियों के लिए कई परियोजनाओं की भी घोषणा की जिनमें यमुनानगर से खजूरी गांव के लिए सड़क निर्माण, सधौरा और रादौर के लिए सरकारी कॉलेज, बिलासपुर के लिए नया बस स्टैंड, खजीराबाद को तहसील का दर्जा और 33 केवी सबस्टेशन का निर्माण शामिल है। खट्टर ने बताया कि विभिन्न तरह के विकास कार्यों के लिए यमुनानगर-जगधारी के नगर निगम को 31 मार्च तक पांच करोड़ रूपए की सहायता राशि दी जाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने जगाधरी में लकड़ियों के बाजार की स्थापना की भी घोषणा की। खट्टर के मुताबिक, यमुनानगर जिले में प्राकृतिक संसाधनों की प्रचुरता है और यहां उद्योग धंधे की काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि सरकार इस इलाके में विकास सुनिश्चित करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। मुख्यमंत्री ने अफसोस जताते हुए कहा कि विकास के मामले में यह इलाका काफी पिछड़ा है क्योंकि ‘‘पूर्ववर्ती सरकारों ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया।’’


Comments are closed.