कैट्स एम्बुलेन्स का संचालन ठप, वेतन नहीं मिलने से नाराज कर्मचारी

दिल्ली मेडिकल सेवा की रीढ़ कही जाने वाली कैट्स एम्बुलेंस बंद होने की कगार पर है । 102 नंबर डायल करने पर अब शायद ही कोई एम्बुलेंस आपको अस्पताल पहुंचाए , ये तब है जब दिल्ली में चिकनगुनिया का प्रकोप चरम पर है। दरअसल कैट्स एम्बुलेंस में सेवा दे रहे BVG कंपनी के चालक और पैरामेडिकल स्टॉफ रुके हुए वेतन को लेकर आंदोलनरत हैं  ।कर्मचारियों के मुताबिक़ पिछले तीन महीने से उन्हें वेतन नहीं मिला है जिससे एम्बुलेंस के ड्राइवर ने गाड़ियां चलना बंद कर दिया। सभी नयी और लगभग 50 फीसदी गाड़ियों जिन पर BVG का स्टाफ नियुक्त था बंद है। एम्बुलेंस सेवा से जुड़े कर्मियों का आरोप है की उन्हें वेतन के अलावा छुट्टी भी नहीं दी जा रही। वेतन और छुट्टी को लेकर विभागीय अधिकारियों से कई बार लिखित शिकायत की गयी लेकिन उस पर सुनवायी नहीं हुई , जिससे कर्मचारियों में गुस्सा है। सरकार और अधिकारी इनकी मांगो पर कोई ध्यान नहीं दे रहे माना जा रहा है कि कैट्स एम्बुलेंस का निजीकरण करने से सेवा प्रभावित हुई हैं।

Comments are closed.