अहंकार में नहीं आएं आप नेता, कार्यकर्ताः केजरीवाल

नई दिल्ली। शानदार विजय के लिए दिल्ली की जनता को सलाम करते हुए आम आदमी पार्टी नेता अरविंद केजरीवाल ने आज अपनी पार्टी के सभी लोगों को आगाह किया कि वे इस जनादेश से ‘‘अहंकार’’ में नहीं आएं वरना पांच साल बाद हमारा वही हश्र होगा जो आज इन चुनावों में कांग्रेस और भाजपा का हुआ है। 70 सदस्यीय विधानसभा में 60 से अधिक सीटों पर ‘आप’ के बढ़त बनाए रखने के बीच उत्साह से भरे पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली की जनता ने कमाल कर दिखाया है और मैं उन्हें सलाम करता हूं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब आप सच्चाई के रास्ते पर हों तो दुनिया की तमाम ताकतें आपकी मदद के लिए आ जाती हैं। यह सच्चाई की जीत है।’’ शानदार जीत की घड़ी में केजरीवाल ने अपने नवनिर्वाचित विधायकों, पार्टी सदस्यों और कार्यकर्ताओं को आगाह किया कि उनमें अहंकार नहीं आना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आप सभी से आग्रह करना चाहता हूं कि अहंकार में नहीं आना वरना पांच साल बाद हमारा भी वही हश्र होगा। हमें दिल्ली की जनता की सेवा करनी है, जिन्होंने हमें विशाल जनादेश दिया और इसके लिए हम उनके आभारी हैं।’’ ऐतिहासिक जीत के साफ संकेत उभर कर सामने आने के बाद 49 दिन तक पहले भी दिल्ली के मुख्यमंत्री रह चुके 46 वर्षीय केजरीवाल ने कहा, ‘‘आज जो कांग्रेस का हाल हुआ है, वह उसके अहंकार के कारण हुआ है। अब भाजपा का यह हाल उसके अहंकार की वजह से हुआ है।’’ तीन मंजिला ‘आप’ कार्यालय की छत से पार्टी समर्थकों के विशाल समूह से केजरीवाल ने उनकी बगल में खड़ी अपनी पत्नी सुनीता से भी परिचय कराया और कहा कि उनके सतत समर्थन के बिना यह जीत संभव नहीं थी। लोगों ने जोरदार तालियों बजाकर उनकी पत्नी का स्वागत किया। आप नेता ने अपनी पत्नी को गले लगाया और कहा, ‘‘वह कभी सामने नहीं आई’ लेकिन हमेशा साथ रहीं। इनके बिना मेरे लिए कुछ हासिल करना पाना संभव नहीं था।’’ इस अवसर पर उन्होंने अपने माता-पिता का भी आभार जताया। केजरीवाल के साथ खड़े आशुतोष ने कहा कि यह जनादेश देश में नयी तरह की क्रांतिकारी राजनीति की शुरूआत है।


Comments are closed.