बेटे की मौत के बाद, शव को ई—रिक्शा में ले जाने पर मजबूर हुई मां

नेहा राठौर

देश में चारों तरफ कोरोना महामारी का कोहराम मचा हुआ है। हर रोज संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में रोज कहीं न कहीं से दिल दहला देने वाले दृश्य सामने आ रहे हैं। ऐसा ही एक दृश्य यूपी के शहर वाराणसी सामने आया है, जो किसी को भी झकझोर कर रख देगा। यहां किडनी की समस्या से परेशान एक युवक की मौत हो गई, लेकिन उसके शव को अस्पताल ले जाने के लिए कोई भी एम्बुलेंस नहीं मिली। ऐसी हालत में युवक की मां अपने बेटे के शव को ई-रिक्शा में ले जाने पर मजबूर हो गई।

वाराणसी से वायरल हुई ये तस्वीर झकझोर देने वाली है। यह तस्वीर सिस्टम की असलियत को बयां करती है। बता दें कि वाराणसी के बीएचयू के सुंदरलाल चिकित्सालय में बुजुर्ग मां अपने बेटे की किडनी की समस्या के इलाज के लिए गई थी। जहां उसका वक्त पर इलाज नहीं हो पाया तो बेटे ने दम तोड़ दिया। मौत के बाद उन्हें अपने बेटे शव को ले जाने के लिए कोई एम्बूलेंस तक नहीं मिली, तो उन्हें मजबूरी में शव को ई-रिक्शा में पैरों के पास रखकर ले जाना पड़ा।

यह भी पढ़ें – कोलाज स्पोर्ट्स क्लब ओम नाथ सूद क्रिकेट के अंतिम आठ में

बता दें कि मृत्यु जौनपुर का रहने वाला था। वह मुंबई में काम करता था, वह यहां शादी के किसी कार्यक्रम में भाग लेने के लिए आया था। जैसे ही उसकी तबीयत बिगड़ी तो उसे वाराणसी इलाज के लाया गया, जहां उसे भर्ती नहीं किया गया। ऐसे में समय पर इलाज नहीं मिलने पर उसकी मौत हो गई।

देश और दुनिया की तमाम ख़बरों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल अपनी पत्रिका टीवी (APTV Bharat) सब्सक्राइब करे ।

आप हमें Twitter , Facebook , और Instagram पर भी फॉलो कर सकते है।                      

Leave A Reply

Your email address will not be published.